ITI full form in hindi|What is ITI in Hindi?

हर विद्यार्थी का सपना 12वीं कक्षा पास कर अपने लिए एक ऐसी स्ट्रीम चुनने का होता है, जिसके बाद वह अपनी लाइफ को सेटल कर एक अच्छे सोर्स आफ इनकम को कमा सकें। पर मुश्किल बात यही आता है कि 10वीं के बाद ऐसी कौन से फील्ड को चुनना चाहिए, जिससे काफी अच्छी अर्निंग हो पाए और लाइव सेटलमेंट भी अच्छे से हो पाए। ऐसे में अपने कई बार अपने रिश्तेदारों या अपने दोस्तों की तरफ से आईटीआई (Industrial Training Institute) के बारे में सुना होगा और आज इस आर्टिकल के जरिए हम आपको आईटीआई के बारे में विस्तार से बताएंगे, इसलिए आर्टिकल के अंत तक जरूर बने रहे।  

आईटीआई क्या है? (ITI full form in hindi)

सबसे पहले आईटीआई की फुल फॉर्म Industrial Training Institutes होती है, इसके बाद आपको नौकरी आसानी से मिल जाती हैं और अगर आपके पास आईटीआई का सर्टिफिकेट होता है, तो आप को सरकारी नौकरी लेने में कोई परेशानी का सामना नहीं करना पड़ता।

आईटीआई कोर्स में स्टूडेंट्स को इंडस्ट्रियल लेवल की जॉब के लिए तैयार किया जाता है, इसी वजह से इसमें प्रोफेशनल कोर्स की तैयारी की जाती है। इसके अंतर्गत थ्योरी से ज्यादा प्रैक्टिकल नॉलेज पर ध्यान दिया जाता है, जिससे स्टूडेंट की एफिशिएंसी को बढ़ाया जा सकें।

इसीलिए ही ज्यादातर स्टूडेंट आईटीआई में जाना पसंद करते हैं, ताकि उनको इंडस्ट्रियल स्किलस में तैयार कराया जा सके और वह ज्यादा से ज्यादा अपनी योग्यता बढ़ा सकें।

ITI में कितने सब्जेक्ट होते है?

आईटीआई में 50 से भी ज्यादा कोर्स उपलब्ध होते हैं। जिनको विद्यार्थियों को पढ़ाया जाता है। वैसे तो इसमें थ्योरी सब्जेक्ट भी होते हैं, पर उसके साथ ही आपको प्रैक्टिकल्स भी देने होते हैं।

  • Electrician
  • Moulder
  • Turner
  • Wireman
  • Plumber
  • etc.

आईटीआई करने के बाद आपको नौकरी मिल जाती है और यही वजह है कि इसके अंतर्गत थ्योरी के साथ-साथ प्रैक्टिकल्स में भी ज्यादा ध्यान दिया जाता है।

विद्यार्थी अपने कोर्स के हिसाब से सही महत्वपूर्ण चीजों को पढ़ते हैं और उन्हें वही टॉपिक पढ़ाए जाते हैं। आईटीआई जॉब ओरिएंटेड कोर्स है, इसका मतलब विद्यार्थी का लक्ष्य पूरा करके उन्हें जल्द से जल्द नौकरी दिलाना आईटीआई का ही काम है।

ITI में कुल कितने कोर्स होते हैं? (iti me kitne subject hote hai)

जैसा की आपको बताया कि आईटीआई में 50 से भी ज्यादा कोर्सेस उपलब्ध होते हैं। हर विद्यार्थी अपनी रुचि के हिसाब से उन कोर्सेस में से अपने लिए एक सही विषय का चयन कर सकते हैं।

आपको आईटीआई से रिलेटेड कोर्स की जानकारी नीचे दी गई तालिका में दी गई है, इसलिए संपूर्ण जानकरी के लिए नीचे दी हुई तालिका देखें।

ITI SubjectITI Subject
Electricianउपकरण और डाई मेकर
Moulderशीट मेटल वर्कर
turnerwelder gas and electric
उपकरण और डाई बनानाmachinist
draughtsman mechanicalpainter general
computer hardware mechanicफाऊंडरीमैन
refrigeration and air conditioner mechanicबढ़ई
मैकेनिक मशीन टूल्स रखरखावफिटर
pattern makermason building constructor
bookbinderEnglish stenography
plumbersecretarial practice
wiremanradio and television mechanic
former preparatory school management helperDiesel mechanic
मशीन उपकरण रखरखावwatch and clock mechanic
उन्नत velderप्रिंसिपल ऑफ टीचिंग
metrology and engineering inspectionnetwork technician
विद्युत रखरखावmotor vehicle mechanic
electroplatercomputer operator and programming helper
electronic mechanicसिलाई बुनाई
उन्नत इलेक्ट्रॉनिक्सहलवाई और बेकर
बाल और त्वचा की देखभालinterior designer
driver come mechanic for light motor vehiclesCAD CAM
heat engine automobiledesktop publishing operator

आईटीआई कितने प्रकार की होती है?

आईटीआई ट्रेड (ITI Trade) के मुख्य रूप से दो प्रकार होते हैं। जिसमें शामिल हैं –

1. Engineering Trades

2. Non-engineering Trades

Engineering Trades

इंजीनियरिंग ट्रेड्स पूरी तरह से टेक्नोलॉजिकल होता है। इसका मतलब इंजीनियरिंग ट्रेड्स तकनीकी से जुड़ा हुआ होता है। इसके अंतर्गत विद्यार्थियों को ज्यादातर गणित, विज्ञान और दूसरे टेक्नोलॉजिकल जैसे विषयों पर ज्ञान दिया जाता है।

Non-engineering Trades

नॉन इंजीनियरिंग ट्रेड्स में टेक्नोलॉजिकल कुछ भी कार्य नहीं होता है। यानी कि इसमें तकनीकी विषय शामिल नहीं होते हैं। जिन विद्यार्थियों को साइंस में रुचि नहीं होती है, वहीं ज्यादातर नॉन इंजीनियरिंग ट्रेड्स का चयन करते हैं।

आईटीआई में कुल 100 ट्रेड्स होते हैं, जिसमें से विद्यार्थी अपने मनपसंद ट्रेड्स का चयन कर पढ़ाई जारी कर सकते हैं।

ITI में Admission लेने की Eligibility Criteria क्या है?

आइये अब जानते हैं कि आईटीआई में एडमिशन लेने के लिए क्या क्राइटेरिया तय किया गया है। Criteria की लिस्ट कुछ इस प्रकार हैं –

  1. आईटीआई में एडमिशन लेने के लिए सबसे पहले उम्मीदवार का किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से दसवीं कक्षा पास करना जरूरी होता है।
  2. विद्यार्थी के लिए कम से कम 35% aggregate माक्स को प्राप्त करना आवश्यक होता है।
  3. साथ ही इसके लिए आयु सीमा 14 वर्ष से लेकर 40 वर्ष तक तय की गई है।

Conclusion

ऊपर दिए गए आर्टिकल में आईटीआई के बारे में आपको सारी महत्वपूर्ण बातें लिखी गई है। जैसे आईटीआई कोर्सेज, एडमिशन क्राइटेरिया, अर्थात् सभी तरह की महत्वपूर्ण जानकारी आपको ऊपर आर्टिकल में मिल जाएगी।

आपको यह आर्टिकल पसंद आया हो और यदि आपको आर्टिकल अच्छा लगा तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और ऐसे ही कई आर्टिकल के लिए इस वेबसाइट से जुड़े रहें, धन्यवाद।

FAQ’s

  1. आईटीआई करने से कौन सी नौकरी मिल सकती है?

    आईटीआई पूरा करने के बाद, आप विभिन्न क्षेत्रों में विभिन्न नौकरी के अवसरों की खोज कर सकते हैं। आईटीआई के बाद कुछ संभावित नौकरी विकल्प निम्नलिखित हैं:
    इलेक्ट्रीशियन: इलेक्ट्रिकल सिस्टम के स्थापना, रखरखाव और मरम्मत में काम करें।
    फिटर: मशीन के भागों को फिट और एसेम्बल करने में जुटे रहें।
    वेल्डर: धातुओं को जोड़ने और वेल्ड करने में विशेषज्ञ बनें।
    मैकेनिक (मोटर वाहन): ऑटोमोबाइल की मरम्मत और रखरखाव में काम करें।
    कारपेंटर: लकड़ी के संरचनाओं का निर्माण, और मरम्मत करने में जुटे रहें।
    प्लंबर: प्लंबिंग सिस्टम की स्थापना और मरम्मत करें।
    मशीनिक (मोटर वाहन): प्रेसिजन मेटल पार्ट्स बनाने के लिए मशीन और टूल का उपयोग करें।
    ड्राफ्ट्समैन (सिविल/मैकेनिकल): निर्माण या उत्पादन के लिए तकनीकी आरेख और योजनाएं बनाएं।
    इलेक्ट्रॉनिक मैकेनिक: इलेक्ट्रॉनिक सिस्टम, उपकरण, और डिवाइस के साथ काम करें।
    इंस्ट्रूमेंट मैकेनिक: विभिन्न उपकरणों और डिवाइसेज को कैलिब्रेट और मरम्मत करें।
    रेफ्रिजरेशन और एयर कंडीशनिंग मैकेनिक: कूलिंग सिस्टम स्थापित और बनाए रखें।
    टर्नर: लेथ और टर्निंग मशीन का उपयोग साइलेंड्रिकल पार्ट्स बनाने के लिए करें।
    सर्वेयर: निर्माण और विकास परियोजनाओं के लिए पृष्ठभूमि को मापें और नक्शा बनाएं।
    पेंटर (जनरल): विभिन्न सतहों पर पेंट और कोटिंग लगाएं।
    मेसन (बिल्डिंग कंस्ट्रक्टर): ईंटों, कंकड़ और अन्य सामग्रियों का उपयोग करके इमारतों का निर्माण करें।
    ये कुछ उदाहरण हैं, और आपके चयनित आईटीआई व्यापार के आधार पर विशिष्ट नौकरी के अवसर भिन्न हो सकते है


  2. आईटीआई की पढ़ाई कितने साल की होती है?

    आईटीआई की पढ़ाई की अवधि व्यावसायिक तथा पृष्ठभूमिका निर्धारित करने के लिए आधारभूत होती है। इसकी अवधि विभिन्न व्यापारों या ट्रेड्स में भिन्न हो सकती है। आमतौर पर, आईटीआई की पढ़ाई की अवधि 1 से 3 वर्षों के बीच हो सकती है।
    आईटीआई एक व्यावसायिक प्रशिक्षण संस्थान है जो विभिन्न व्यापारों और उद्योगों में सीखे जाने वाले नौकरी या व्यापार के क्षेत्र में तैयारी के लिए छात्रों को प्रशिक्षित करता है। इसमें स्नातक और स्नातकोत्तर स्तर की पढ़ाई होती है, जो विशेष व्यापारों या ट्रेड्स में सीखे जाते हैं।
    आपकी चयनित ट्रेड और पाठ्यक्रम के आधार पर आईटीआई की पढ़ाई की अवधि तय की जाती है, और इसमें कक्षा शिक्षण और प्रशिक्षण की अवधि शामिल होती है। आपको इसके लिए अपने चयनित आईटीआई से संपर्क करना चाहिए ताकि आप अधिक विवरण प्राप्त कर सकें।


  3. आईटीआई में सबसे अच्छा कोर्स कौन सा होता है?

    आईटीआई में सबसे अच्छा कोर्स व्यक्ति की प्राथमिकताओं, रुचियों और क्षमताओं पर निर्भर करता है। इसमें कई विभिन्न व्यापार और ट्रेड्स के लिए प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है, और प्रत्येक कोर्स का उद्देश्य विशिष्ट क्षेत्र में छात्रों को तैयार करना होता है।
    कुछ लोग इलेक्ट्रॉनिक्स, मैकेनिकल, या इलेक्ट्रिकल ट्रेड्स को सबसे उत्कृष्ट मानते हैं, जबकि दूसरों के लिए कंप्यूटर साइंस, आईटी, या व्यावासिक ट्रेड्स में प्रशिक्षण लाभकारी हो सकता है। कुछ अन्य विकल्प शामिल हो सकते हैं जैसे कि फैशन डिजाइनिंग, हेयर ड्रेसिंग, या होटल मैनेजमेंट आदि।
    इसलिए, सबसे अच्छा कोर्स व्यक्ति के शौक, रुचियों, और कौशल के आधार पर निर्भर करता है, और उसे अपनी पेशेवर लक्ष्यों के साथ मेल खाने वाला कोर्स चुनना चाहिए।

Also read:

Leave a comment